NH-82, गया से नवादा, नालंदा, बिहार शरीफ को जोड़ता है। गया से नालंदा जाने के क्रम में गया और नवादा जिले का बॉर्डर पड़ता है वजीरगंज। जी हा वही वजीरगंज जहाँ से गहलौर जाने का रास्ता काटता है। पर वजीरगंज सड़क की हालत अभी ऐसी है कि मानो कोई दशरथ माँझी जैसा कोई व्यक्ति का इंतजार कर रही हो। सरकार तो गूँगी, बहरी हो चुकी है, न तो उसको गया की जनता दिखती है, ना ही उनकी तकलीफ। चुनाव में वादे और आस्वाशन के अलावा और कुछ नहीं मिलता वजीरगंज के जनता को।

नेशनल हाईवे 82 के मद्देनज़र वजीरगंज में भारी भरकम गाड़ियों का आवागमन इसी रोड से होता है। स्थाई लोगों का भी मार्केट बीच रोड पर ही पड़ता है।बाज़ार अतिक्रमण के कारण नाली/नाला दुकान के अंदर चला गया है। आये दिन जाम की समस्या तो थी ही, साथ मे गड्ढे और जल जमाव के कारण लोगो की मुश्किलें और बढ़ा दी है।

बारिश के मौसम की शुरुआत हो चुकी है। रोड जर्जर से भी खराब हालत होने के कारण इस रोड पर आये दिन दुर्घटनाये हो रही है।

प्रशाशन का भी ध्यान अभी तक इस पर नहीं गया है। मानो किसी अप्रिय घटना का इंतजार में हैं, ताकि वो इसपर अपना खेद व्यक्त कर सकें।

इसमे चुनावी खेल भी अब शुरू हो गया है। पक्ष-विपक्ष पर उंगलियों का दौर शुरू हो गया है। इन सबके बीच मे बेचारी जनता पीस रही है और कीचड़ में गिर रही है।

बाकी जनता जनार्दन है सब जानती है…

Source: Wazirganj Posts