देश में कोरोना वायरस (Corona Virus) से निपटने के लिए करीब दो महीने से लॉकडाउन (Lockdown) लागू है. इसकी सबसे बड़ी मार गरीबों और प्रवासी मजदूरों पर पड़ी है. लोगों को सैकड़ों किलोमीटर पैदल चलकर अपने घर लौटना पड़ रहा है. रोजी-रोटी गंवा चुके इन प्रवासी श्रमिकों की रास्ते में मौतें भी हो रही हैं. हाल ही में महाराष्ट्र में ट्रेन से कटकर दर्जनों मजदूरों की मौत ने देश को झकझोर कर रख दिया था. आज एक बार फिर कुछ मजदूरों ने अपनी जान गंवा दी है. जानकारी के मुताबिक यूपी के मुजफ्फरनगर में पैदल ही अपने घर जा रहे 6 मजदूरों को रोडवेज बस ने कुचल दिया और उनकी मौत हो गई.

दरअसल मजदूरों का एक समूह पंजाब से बिहार जा रहे था. ये मजदूर गोपालगंज के रहने वाले थे. घर जाने के लिए कोई साधन नहीं मिला तो वे पैदल ही चल दिए. सहारनपुर-मुजफ्फरनगर हाइवे पर घलौली चेक पोस्ट के समीप एक तेज रफ्तार बस इन मजदूरों को रौंदती हुई निकल गई. बस ड्राइवर मौके से फरार हो गया और हाइवे पर 6 लोगों की लाशें बिछ गईं. इस हादसे में 6 लोगों की मौत के साथ-साथ 3 मजदूर गंभीर रूप से घायल भी हो गए जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

यह हादसा रात में उस वक्त हुआ जब ये मजदूर हाइवे के किनारे पैदल जा रहे थे. सूचना मिलते ही स्थानीय पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और घायलों को अस्पताल भिजवाया. अज्ञात बस ड्राइवर के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है. घटना पर यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने दुख जताया है. साथ ही उन्होंने केंद्र और यूपी की योगी सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि विदेशों में फंसे अमीरों को सरकार हवाई जहाजों से ला रही है लेकिन गरीब मजदूरों को मरने के लिए छोड़ दिया गया है.

Source: The News Pantry