मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने मंगलवार को घोषणा की कि इंजीनियरिंग संकाय में प्रवेश के लिए जेईई-मेन्स परीक्षा 18-23 जुलाई तक होगी जबकि मेडिकल संकाय में प्रवेश के लिए नीट परीक्षा 26 जुलाई को आयोजित होगी। कोविड-19 से मुकाबले के लिए लागू देशव्यापी लॉकडाउन के कारण ये दोनों परीक्षाएं टाल दी गई थी।

निशंक ने कहा, ‘जेईई-मेन्स परीक्षा 18-23 जुलाई तक आयोजित होगी जबकि जेईई-एडवांस्ड अगस्त में होगी। नीट परीक्षा 26 जुलाई को आयोजित होगी। उन्होंने कहा कि 10वीं और 12वीं कक्षा की सीबीएसई बोर्ड की लंबित विषयों की परीक्षा पर जल्द ही निर्णय किया जाएगा।
नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) के मुताबिक इन दाेनाें परीक्षाओं के लिए करीब 15 लाख छात्रों ने रजिस्ट्रेशन करवाया है। अधिकारियों ने कहा कि परीक्षा केंद्राें पर पहले भी छात्र दूर-दूर बैठते थे, जाे सोशल डिस्टेंसिंग जैसा ही था। ऐसे में परीक्षा केंद्राें की संख्या पर बहुत ज्यादा असर नहीं पड़ेगा। वहीं, मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा कि परीक्षा करवाने के लिए गाइडलाइंस लगभग तैयार हैं। इनकी घाेषणा शुक्रवार को संभव है।
बता दें कि मानव संसाधन विकास मंत्री ने दूसरी बार छात्रों से सीधे संवाद किया। पहले संवाद में छात्रों और अभिभावकों के साथ शिक्षक और विशेषज्ञ भी जुड़े थे। लेकिन इस बार इस सीधे संवाद में सिर्फ छात्रों को ही चुना गया।

रजिस्टर्ड उम्मीदवारों के एडमिट कार्ड जल्द ही जारी किए जाएंगे. एडमिट कार्ड में परीक्षा केंद्र, परीक्षा शहर और परीक्षा के सेशन की जानकारी होगी. एडमिट कार्ड नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) द्वारा जारी किए जाएंगे. उम्मीदवार जेईई मेन के एडमिट कार्ड आधिकारिक वेबसाइट nta.ac.in से डाउनलोड कर सकते हैं. गौरतलब है कि संयुक्त प्रवेश परीक्षा- मुख्य (JEE Mains) का आयोजन देश भर के इंजीनियरिंग कॉलेजों में प्रवेश के लिए होता है जबकि राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (NEET) के जरिए देशभर के चिकित्सा महाविद्यालयों में प्रवेश लिया जाता है.

  देश भर में 15 लाख से अधिक छात्रों ने नीट परीक्षा के लिए पंजीकरण कराया है. यह परीक्षा भारत के चिकित्सा महाविद्यालयों में प्रवेश पाने का रास्ता है. वहीं नौ लाख से अधिक छात्रों ने JEE Mains परीक्षा के लिए आवेदन किया है, जिसके जरिए भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों (IIT)को छोड़कर देश के अन्य सभी इंजीनियरिंग कॉलेजों में प्रवेश होता है. जेईई-मेंस को जेईई-एडवांस परीक्षा के लिए अर्हता माना जाता है जिसके जरिए आईआईटी की परीक्षा होती है. आपको बता दें कि कोरोनावायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए सरकार ने कक्षाओं को बंद करने का आदेश दिया जिसके बाद 16 मार्च से देशभर के विश्वविद्यालय और स्कूल बंद हैं. वहीं 25 मार्च को राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन की घोषणा की गई जिसे दो बार बढ़ाकर अब 17 मई तक कर दिया गया है.