राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) नेता तेजस्वी यादव लॉकडाउन के नियमों को तोड़कर आज पटना से गोपालगंज के लिए रवाना हो रहे थे . पर आवास के गेट से बाहर निकली गाड़ी को फिलहाल पुलिस ने रोक दिया . बाहर खुद पटना के एसएसपी मोर्चा संभाले हुए थे. तेजस्वी के घर के बाहर पार्टी समर्थकों का जबरदस्त जमावड़ा लगा हुआ था . चूंकि, गोपालगंज रेड जोन का जिला है, इसलिए पुलिस उन्हें जाने की इजाजत नहीं दी.

तेजस्वी यादव के घर के बाहर कड़े सुरक्षा इंतजाम किए गए थे . कल तेजस्वी ने लॉकडाउन के बीच ट्रिपल मर्डर केस को लेकर गोपालगंज कूच करने का ऐलान किया था. उनको रोकने के लिए बड़ी तादाद में पुलिसकर्मी तैनात किए गए थे . रैपिड एक्शन फोर्स को भी तैनात किया गया था .पर कोरोना की कुछ भी जाँच नही थी. ना ही किन्ही ने मास्क पहना था,और ना ही सोशल डिस्टन्सिंग दिख रहा था. ऐसा मानो कोरोना भारत से ख़त्म हो गया हो.

वहाँ पर मीडिया का ध्यान पुलिस और मुख्य कार्यकर्ताओं पर था. भीड़ और हुजूम बहुत ज़्यादा था. वहाँ पर कई राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) समर्थक अपने गया से भी गए थे. जिनमे से 2 गया के समर्थक कि स्थिथि बिगड़ने लगी. जब यह बात पुलिस महिकमे को पता लगी तो उनको फटा फ़ैट PMCH में भेज दिया गया.

डॉक्टर से प्राप्त सूचना के आधार पर उनको कोरोना जैसे लक्षण है और उनका जाँच चल रहा है . फ़िलहाल ख़तरे की बात नही है, पर अगर उनका कोरोना पॉज़िटिव आने पर बहुत बड़ी गड़बड़ी हो सकती है. और बिहार में कोरोना बिस्फोटक के जैसा हो जाएगा. फिर शायद इसको रोकना मुस्किल हो जाएगा. इतनी बड़ी लापरवाही के ज़िम्मेदार कौन होगा ?

Source : NDTV & TV9