बिहार में शिक्षक बहाली के लिए वैसे अभ्यर्थी जिन्होंने आवेदन जमा कर दिया था और मेधा सूची का इंतजार कर रहे थे, उन्हें दोबारा आवेदन नहीं करना होगा. वहीं NIOS से डीएलएड पास हुए अभ्यर्थियों के लिए नया शिड्यूल जारी किया जाएगा.

बिहार में लंबे समय से शिक्षक बनने के इंतजार में बैठे अभ्यर्थियों के लिए बड़ी खबर है. राज्य में प्राइमरी शिक्षकों (Bihar Teacher Appointment) की बहाली को शिक्षा विभाग ने हरी झंडी दे दी है और अगले 10 दिनों में यह प्रक्रिया शुरू हो जाएगी. प्राइमरी एजुकेशन के डायरेक्टर रणजीत कुमार सिंह ने न्यूज 18 को जानकारी देते हुए कहा है कि एनसीटीई (NCTE) से पत्र मिलने के बाद बहाली पर लगी रोक हटा ली गई है और अगले 3 माह के भीतर 94 हजार पदों पर बहाली पूरी कर ली जाएगी.

इनको करना होगा अप्लाई

वैसे अभ्यर्थी जिन्होंने आवेदन जमा कर दिया था और मेधा सूची का इंतजार कर रहे थे, उन्हें दोबारा आवेदन जमा नहीं करना होगा. वहीं NIOS से डीएलएड पास हुए अभ्यर्थियों के लिए नया शिड्यूल जारी किया जाएगा. एनआईओएस से डीएलएड पास अभ्यर्थियों को लेकर एनसीटीई ने बहाली पर रोक लगा रखी थी. एनसीटीई ने डिग्री पर यह कहकर सवाल उठाया था कि 18 महीने की डीएलएड डिग्री अमान्य है और 24 महीने की डिग्री को ही मान्य माना जाएगा. इसके बाद अभ्यर्थियों ने हाईकोर्ट से गुहार लगाई और हाईकोर्ट ने डिग्री को मान्य बताते हुए बहाली में शामिल करने का फैसला सुनाया था.

एनसीटीई ने भेजा है पत्र

बाद में एनसीटीई ने भी लॉकडाउन में छूट मिलते ही शिक्षा विभाग बिहार को बहाली करने का पत्र भेज दिया है जिसके बाद शिक्षा विभाग ने बहाली पर से लगी रोक को हटाते हुए फैसला लिया है. अब राज्य के डीएलएड अभ्यर्थी फिर से आवेदन कर सकेंगे वहीं मेधा सूची की प्रतीक्षा में बैठे अभ्यर्थियों को जल्द खुशखबरी मिलेगी. इस बहाली में टीईटी, सीटेट और डीएलएड तीनों अभ्यर्थी अब शामिल हो सकेंगे और शिक्षक बनने का उनका सपना साकार हो सकेगा.