बिहार में कोरोना के मरीजों की संख्या 1500 से भी ज्यादा हो गया। इस संकट के बीच बिहार सरकार ने एक चौंकाने वाला फैसला लिया है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार के स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव के पद से संजय कुमार को हटा दिया है। संजय कुमार को स्वास्थ्य विभाग से हटाकर पर्यटन विभाग का प्रधान सचिव बनाया गया है। वहीं पर्यटन विभाग के प्रधान सचिव उदय सिंह कुमावत को अब स्वास्थ्य विभाग का प्रधान सचिव बनाया गया है।

सरकार ने आनन-फानन में स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव को हटाने का फैसला किन परिस्थितियों और क्यों लिया यह फिलहाल साफ नहीं हो सका है।

प्रवासी मजदूरों की घर वापसी के बाद से ही बिहार में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में भी तेजी से इजाफा हो रहा है। बिहार सरकार कोरोना संक्रमित मरीजों को 21 दिन क्वारंटीन सेंटर में रख रही है। क्वारंटीन सेंटर से भी आए दिन खराब व्यवस्था की शिकायतें मिल रही है। ऐसे में सरकार का स्वास्थ्य विभाग के संजय कुमार को आनन-फानन में हटाने के पीछे क्या वजह रही फिलहाल इसबारे में जानकारी नहीं मिल सकी है।

बता दें कि 1990 बैच के आईएएस अधिकारी संजय कुमार दो साल पहले झारखंड से वापस बिहार आए थे। बिहार आने के बाद उन्हें स्वास्थ्य विभाग का जिम्मा दिया गया था और कोरोना महामारी के बीच लगातार सोशल मीडिया के जरिए तमाम आंकड़े जारी कर रहे थे। लेकिन अब उन्हें पर्यटन विभाग की जिम्मेवारी सौंपी गई है और पर्यटन विभाग के उदय सिंह कुमावत को अब बड़ी जिम्मेदारी दी गई है ।

Source : Hindustan News